मोस्ट अर्जेंट – नई लव स्टोरी हिंदी | Short love Story in Hindi

रोमांटिक कपल लव स्टोरी (Story in Hindi ove)

Short love Story in Hindi: उस दिन मैं सुबह जल्दी जाग गया। उस समय लगभग भोर के 4:30 बजे होंगे। मन में अजीब-सी बेचैनी थी। खिड़की से देखा तो चारों तरफ घुप्प अंधेरा छाया हुआ था, शायद मुहल्ले की बिजली चली गयी थी। मन में थोड़ा संतोष हुआ कि चलो मेरे घर में इनवर्टर लगा है। पिताजी आराम से सो रहे होंगे।

धीरे- धीरे सुबह का उजियारा हुआ। में जल्दी से ऑफिस जाने के लिये तैयार हुआ। नाश्ता बनाते हुए, मैंने पिताजी को आवाज़ दी, ” पिताजी ! पांच मिनट में नाश्ता तैयार हो जाएगा, आप जल्दी से आ जाइए। अखबार बाद में पढ़ लीजिएगा। आज दूध नहीं आया है, में शाम को आते समय ले आऊगा।“

हम दोनों ने साथ में नाश्ता किया। मैंने गैराज से कार निकाली और फिर ऑफिस के लिए निकल पड़ा। मेरा ऑफिस, अशोका एवेन्यु की पांचवी मंजिल में है, जो दीनदयाल मार्ग में पड़ता है।

मैं ख्यालों की उधेड-बुन में उलझा-सा अपनी ही धुन में जा रहा था, कि तभी एक ट्रैफिक हवलदार सामने से आ गया।

रोमांटिक प्रेम कहानी (romantic love story in hindi)

उसने कहा कि, तुमने सिग्नल तोड़ा है, अब तुम्हारा चालान काटूँगा। जल्दी से गाड़ी के कागजात दिखाओ। मैंने समझाने व बहुत कोशिश व, लेकिन वह नहीं माना। आखिरकार उसने मेरा चालान काट दिया।

जैसे-तैसे ऑफिस पहुंचा तो देखा, अरे! आज तो लिफ्ट खराब है, इतनी गर्मी में सीढियों से जाना पड़ेगा। लगता है कि आज का दिन ही ख़राब है।

मन में सोचा कि, चलो क़ोई बात नहीं आज सीढियों से चलते हैं, सीढियां कब काम आएंगी। ऑफिस की सीढ़ियां चढ़ते हुए दिल जोरों से धड़क रहा था। जैसे ही मैंने ऑफिस में कदम रखा वेसे ही दो दिन पहले शनिवार का घटनाक्रम आंखों के सामने आ गया। आज मेरे साथ कुछ ना कुछ तो जरूर होना था, चाहे तबादला या चाहे…..

मेंने कभी भी सोमवार का इतनी बेचैनी से इंतजार नहीं किया। फिर अपनी टेबल पर पहुँचकर मैंने देखा, वहाँ एक लिफाफा रखा हुआ था, जिसके ऊपर लाल रंग से लिखा था “मोस्ट अर्जेंट”

romance love story in hindi

मेरे दिल की धड़कन बढ़ चुकी थी और काँपते हाथों से मैंने वह लिफाफा खोलने की कोशिश की। लेकिन घबराहट की वज़ह से लिफाफा मेरे हाथों से नीचे गिर गया। मैंने लपककर जल्दबाजी से उसे उठाने की कोशिश की।

कि अचानक तभी, मैंने अपने कंधों पर किसी का हाथ महसूस किया।

“अब इस लिफाफे को खोलने की कोई जरूरत नहीं है”

मैं तुम्हें अपना जवाब देती हूँ। अब कान खोलकर सुनो।

“तुम मुझे पसंद हो। हाँ । मेरी हाँ है”

“मैं तुमसे शादी करने के लिए तैयार हूँ”

पलट कर मैंने देखा तो जागृति मेरे सामने खडी थी। मानों मेरे दिल की सारी ख्वाहिशें पूरी हो गई हो। मेरे अरमानों को पंख लग गए हों। पिछले ही साल वो, मेरे ऑफिस में ट्रांसफर होकर आयी थी और तब से ही में, मन ही मन में उसे चाहने लगा था। लेकिन कभी भी अपने दिल की बात उसे कह नहीं पाया । कभी-कभार जब भी मैं घर से कुछ बनाकर ले जाता था तो सबके साथ-साथ उसे भी खिलाता था, या फिर यूँ कह सकते हैं कि मैं केवल उसी को इम्प्रेस करने के लिए ही नयी-नयी रेसिपीज बनाकर ले जाया करता था। हम दोनों अच्छे दोस्त बन गए थे ।

Short love Story in Hindi

रोज मैं अपने मोबाइल के मैसेज बॉक्स में उसके लिए मैसेज लिखता और लेकिन कभी सेंड नहीं करता। डरता था कि वो क्या सोचेगी, क्या कहेगी। कहीं इस वजह से हमारी दोस्ती न ख़त्म हो जाये ।

लेकिन उस शनिवार मेरे जिगरी दोस्त रोहित ने मेरा मोबाइल छीनकर, वे सारे के सारे मैसेज, जागृति को सेंड कर दिए।

करीब एक घंटे बाद जागृति मेरी टेबल पर आई, वो बहुत गुस्से में लग रही थी। लगता था कि उसने सारे मैसेज पढ़ लिए होंगे। उसने मुझे एक शब्द भी नहीं कहा। उसने एक फाइल को उठाकर जोर से मेरी टेबल पर पटका और सीधे बॉस के केबिन में चली गई।

मुझे लगा शायद, अब इस ऑफिस में मेरे दिन पूरे हो गए। अब मुझे नयी नौकरी की तलाश करनी पड़ेगी।

मेरा पूरा संडे बड़े ही तनाव और चिंता में गुजरा।

क्या होगा मेरे साथ? क्या जागृति और मैं पहले की तरह अच्छे दोस्त बने रहेंगे? क्या करूँ?

अरे। तुम कहाँ खो गए? ऐसे कोई प्रपोज करता है? कुछ पता भी है तुम्हें? जागृति ने कहा।

उसकी आवाज़ सुनकर मेरी तन्द्रा टूटी और मैं सोमवार में वापस आ गया।

उस समय गुलाब का फूल तो मेरे पास था नहीं, इसलिए मैंने जल्दी से कागज का गुलाब बनाया और घुटनों पर बैठकर कहा, “जागृति, आई लव यू, क्‍या तुम मुझसे शादी करोगी?

उसने कहा बुद्धुराम, में तो पहले से ही हाँ बोल चुकी हूँ। अब और क्‍या सुनना बाकी है?

हम दोनों एक साथ हंस पड़े। हमारे घरवालों की सहमति के साथ, हमने शादी की।

आज हमारी शादी को पाँच साल हो गए हैं और हम अब तीन से चार हो

गए हैं, पिताजी, मैं, जागृति और हम सबका लाड़ला विभोर। (1)

क्रेडिट: शशि शर्मा

और कहानी पढ़िए:-

ऋषि का पहला प्यार-Story In Hindi Love

खामोश मुहब्बत-लव स्टोरी इन हिन्दी

मुझको रुला दिया -Sad Love Story In Hindi

नली का कमाल-तेनाली राम कहानी

10 मोटिवेशनल कहानी इन हिंदी

Top 51 Moral Stories In Hindi In Short

मजेदार पंचतंत्र कहानियां

सबसे बड़ी चीज (अकबर-बीरबल की कहानी)

कानून के दरवाजे पर-फ़्रेंज़ काफ़्का

 करोड़पति कैसे होते हैं – मैक्सिम गोर्की

अगर आप ऐसी ही अनोखी, शानदार और सूझ बूझ भरी कहानियाँ पढ़ने के शौकीन हैं तो इस ब्लॉग पर दोबारा जरूर आइए और COMMENT और SHARE भी करना न भूलें।

शुक्रिया

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.